Breaking News
Home / Breaking News / बड़ा खुलासाः सिर्फ 1 प्रतिशत अमीर लोगों के पास है भारत की 73 फीसदी संपत्ति

बड़ा खुलासाः सिर्फ 1 प्रतिशत अमीर लोगों के पास है भारत की 73 फीसदी संपत्ति

_bd9ab272-da5f-11e7-8585-db66518b106f

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार अपने भाषणों में भारतीय अर्थव्यवस्था को सुधारने की बात करते आए हैं, ताकि देश के सभी लोगों को एक समान इसका फायदा मिल सके। लेकिन देश में अमीर और गरीब के बीच की खाई लगातार बढ़ती ही जा रही है। इस बीच एक सर्वे में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। सर्वे के अनुसार भारत के कुल धन में से 73 प्रतिशत हिस्सा मात्र एक फीसदी अमीर लोगों के पास है। जी हां, देश में 67 करोड़ आबादी गरीब है और इनकी इनकम में महज एक प्रतिशत की वृद्धि देखने को मिली है। बता दें कि यह सर्वे अंतरराष्ट्रीय फर्म ऑक्सफैम द्वारा किया गया है। सर्वे के अनुसार भारत में साल 2017 में कुल संपत्ति के सृजन का 73 प्रतिशत हिस्सा केवल एक प्रतिशत अमीर लोगों के हाथों में है। साथ ही सर्वेक्षण ने देश की आय में असामनता की चिंताजनक तस्वीर भी पेश की है।

आपको बता दें कि अंतर्राष्ट्रीय राइट्स समूह ‘ऑक्सफेम’ की ओर से यह सर्वेक्षण दावोस में आयोजित विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की शिखर बैठक शुरू होने से कुछ घंटे पहले जारी किया गया। इसमें कहा गया है कि 67 करोड़ भारतीयों की संपत्ति में सिर्फ एक प्रतिशत की वृद्धि हुई है। वैश्विक स्तर पर यह तस्वीर और भी चिंताजनक है।

पिछले साल दुनिया भर में अर्जित की गई संपत्ति का 82 प्रतिशत केवल एक प्रतिशत लोगों के पास है। वहीं, 3.7 अरब लोगों की संपत्ति में कोई इजाफा नहीं हुआ। जिसमें गरीब आबादी का आधा हिस्सा आता है। ‘ऑक्सफेम’ के वार्षिक सर्वेक्षण को महत्वपूर्ण माना जाता है और विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक में इस पर विस्तार से चर्चा होती है, जहां बढ़ती आय और लिंग के आधार पर असमानता दुनिया भर के शीर्ष नेताओं के बीच प्रमुख बिंदु है।

सर्वेक्षण में बताया गया है कि देश की कुल संपत्ति का 58 प्रतिशत हिस्सा देश के एक प्रतिशत अमीर लोगों के पास है। जो कि वैश्विक आंकड़े से भी अधिक है। वैश्विक स्तर पर एक प्रतिशत अमीरों के पास कुल संपत्ति का 50 प्रतिशत हिस्सा है। ऑक्सफेम इंडिया का कहना है कि 2017 के दौरान देश के एक प्रतिशत अमीरों की संपत्ति बढ़कर 20.9 लाख करोड़ रुपये से अधिक हो गई है। रिवॉर्ड वर्क, नॉट वेल्थ’ शीर्षक से जारी सर्वेक्षण पर ऑक्सफेम ने कहा कि कैसे वैश्विक अर्थव्यवस्था अमीरों को और अधिक धन एकत्र करने में सक्षम बनाती है और वहीं लाखों करोड़ों लोग जिंदगी जीने के लिए मशक्कत कर रहे हैं। इस सर्वेक्षण में 10 देशों के 70,000 लोगों को शामिल किया गया है।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ऑक्सफेम इंडिया ने आग्रह किया है कि भारत सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि देश की अर्थव्यवस्था सभी के लिए काम करती है न कि सिर्फ चंद लोगों के लिए। उन्होंने सरकार से श्रम आधारित क्षेत्रों को प्रोत्साहित करके समावेशी वृद्धि को बढ़ावा देने, कृषि में निवेश करने और सामाजिक योजानाओं का प्रभावी तरह से क्रियान्वयन करने के लिए भी कहा है।

भारत के संबंध में इसमें कहा गया है कि पिछले साल 17 नए अरबपति बने है। इसके साथ अरबपतियों की संख्या 101 हो गई है। 2017 में भारतीय अमीरों की संपत्ति 4.89 लाख करोड़ बढ़कर 20.7 लाख करोड़ हो गई है। यह 4.89 लाख करोड़ कई राज्यों के शिक्षा और स्वास्थ्य बजट का 85 प्रतिशत है।

About mohit naagar

Check Also

WhatsApp Image 2018-05-26 at 1.40

आगामी चुनाव में प्रदेश की जनता खट्टर सरकार को दिखाएगी आईना : मनोज कुमार अग्रवाल

नई दिल्ली: हरियाणा में लगातार बढ़ रही गर्मी में जनता को पानी, बीजली की हो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *